UPSC IAS syllabus in Hind 2022
UPSC IAS syllabus in Hindi 2022

आप सभी ने तो संघ लोक सेवा आयोग(UPSC) के बारे में सुना ही होगा। लेकिन कई लोगों को इसके बारे में अच्छी तरह से जानकारी नहीं है। वहीं कई लोग ऐसे भी हैं जो सिर्फ UPSC,IAS आदि के बारे में ही जानते हैं। इसके साथ ही यूपीएससी देश की कई सरकारी नौकरियों के लिए होने वाली परीक्षाओं का भी आयोजन करता है।

        आइए आज की इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको UPSC IAS की परीक्षा के सिलेबस और कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों से आपको अवगत करवाएंगे।

UPSC क्या है?(what is UPSC)

UPSC भारत की प्रमुख केंद्रीय भारतीय एजेंसियों में से एक माना जाता है। यह सभी भारतीय सेवाओं और केंद्रीय सेवाओं के ग्रुप और ग्रुप डी के लिए नियुक्तियां प्राप्त करवाता है। और परीक्षाओं का आयोजन भी करता है। जिसमें देश के सबसे प्रतिष्ठित सेवाओं जैसे भारतीय प्रशासनिक सेवा(IAS), भारतीय राजस्व सेवा(IRS) एवं भारतीय पुलिस सेवा अन्य सरकारी नौकरियों के लिए होने वाली परीक्षाएं इसके अंतर्गत शामिल है।

आयोगों के अंतर्गत आयोजित होने वाली विभिन्न परीक्षाएं ( various introduction to be conducted under commissions)

आयोग अपनी भर्ती से संबंधित कई परीक्षाओं का आयोजन करता है। जिसमें भारतीय प्रशासनिक सेवा(IAS), भारतीय इंजीनियरिंग सेवा(IES), भारतीय पुलिस सेवा(IPS), भारतीय राजस्व सेवा(IRS), परीक्षा नौसेना अकादमी(NA), राष्ट्रीय रक्षा अकादमी(NDA), भारतीय वन सेवा(IFS), संयुक्त चिकित्सा सेवा(CMS), केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल(CRPF), संयुक्त भूवैज्ञानिक और भूवैज्ञानिक परीक्षा(combined geo-scientist and geologist examination) आदि शामिल है। इसके अलावा भी आयोग कई प्रकार की अन्य भर्तियों का भी आयोजन करता है।

        UPSC  IAS सिलेबस के अनुसार UPSC  IAS परीक्षा के प्रारंभिक चरणों में 2 पेपर होते हैं ।जबकि मुख्य चरण में वैकल्पिक विषय के साथ ही साथ 7 पेपर होंगे ।विस्तृत UPSC IASआवेदन पत्र 2022 को भरते समय उम्मीदवारों को अपने वैकल्पिक विषय का चयन करने की आवश्यकता होती है।UPSC IAS   सिलेबस के साथसाथ बेहद समझ के लिए IAS की परीक्षा पैटर्न की पूरी जानकारी होना महत्वपूर्ण होता है। अधिक जानकारी के लिए नीचे पुर्ण  UPSC IAS  सिलेबस मौजूद है।

UPSC IAS syllabus 2022
UPSC IAS syllabus 2022

 UPSC IAS सिलेबस 2022(UPSC IAS syllabus 2022)

  •  परीक्षा का नाम:- सिविल सेवा परीक्षा (यूपीएससी सीएसई) 
  • इसके संचालक संघ लोक सेवा आयोग यानि यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन होते हैं।
  •  परीक्षा का मोड ऑफलाइन होता है।
  • प्रारंभिक के लिए यूपीएससी परीक्षा पैटर्न एमसीक्यू पर आधारित होता है, फिर मेंस के लिए  यूपीएससी परीक्षा पैटर्न वर्णनात्मक होता है,तत्पश्चात व्यक्तित्व परीक्षण बोर्ड के सदस्यों के सामने साक्षात्कार रूप में लिया जाता है।
  • UPSC IAS परीक्षा के कुल 3 चरण होते हैं: प्रारंभिक परीक्षा, मेंस परीक्षा, साक्षात्कार।
  • यूपीएससी परीक्षा में कुल पेपर की संख्या: प्रारंभिक पेपर के दो चरण होते हैं एवं मेंस परीक्षा के कुल 7 चरण होते हैं।
  • UPSC IAS  2022परीक्षा की समय सीमाप्रारंभिक पेपर की समय सीमा 2 घंटा एवं मेंस पेपर के कुल पेपरों की समय सीमा 3 घंटे होती है।
  • प्रश्नों के प्रकार प्रारंभिक पेपर के ऑब्जेक्टिव एवं मैंस पेपर के ऑब्जेक्टिव प्रश्न आते हैं।

UPSC IAS 2022 की प्रारंभिक परीक्षा के सिलेबस ( UPSC IAS 2022 preliminary exam syllabus)

UPSC IAS की तैयारी शुरू करने से पहले सिलेबस 2022 की जानकारी होना बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है।  UPSC IAS इससे आपको अपने कमजोर और मजबूत वर्गों को पहचानने में बहुत ज्यादा सुविधा प्रदान होगी। प्रारंभिक सिलेबस 2022 के अंतर्गत 200 और 200 अंकों के दो पेपर होंगे।UPSC IAS सिलेबस के अंतर्गत प्रारंभिक चरण के लिए महत्वपूर्ण विषयों का उल्लेख नीचे दी गई बातों पर आधारित होगा।

UPSC IAS पेपर 1 (जीएस 1) (UPSC IAS paper 1 (GS 1))

  •  आर्थिक और सामाजिक विकास, विशेष रूप से सतत विकास, सामाजिक क्षेत्र की पहल, सरकारी योजनाएं, विशेष रूप से सतत विकास, गरीबी, जनसांख्यिकी, समावेश इत्यादि।
  •   जैव विविधता हरित ऊर्जा, पर्यावरण परिस्थितिकी, जलवायु परिवर्तन, विशेष रूप से जलवायु परिवर्तन, सौर अविष्कार इस प्रकार  के सामान्य मुद्दा है।
  •  सामान्य विज्ञान।
  •  भारतीय राजनीति और शासन राजनीति प्रणाली, राज्य सरकार के निदेशक सिद्धांत, सार्वजनिक नीति, मौलिक अधिकार के मुद्दे, राज्यपाल और राष्ट्रपति की शक्तियां, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, विधानसभा, राज्यपाल, संविधान लोक सेवा इत्यादि।
  •  भारतीय और विश्व का भूगोलभौतिक आर्थिक भूगोल, विश्व का सामाजिक एवं भारत।
  •  अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय महत्व से संबंधित वर्तमान की घटनाएं।

UPSC IAS  पेपर 2 (जीएस 2)- सीएसएटी(CSAT) ( UPSC IAS paper 2( gs2) CSAT)

  •  डाटा इंटरप्रिटेशन रेखांकन टेबल आंकड़ों की पर्याप्तता चार्ट इत्यादि।
  •  गणितीय संख्या (परिमाण का क्रम, उनके संबंध और संख्या इत्यादि।)
  •  सामान्य मानसिक क्षमता के ऊपर प्रश्न।
  •   समस्या समाधान और निर्णय लेना।
  •  कंम्प्रीहेंशन।
  •  संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल।

UPSC IAS मेंस कि सिलेबस 2022(UPSC IAS mains syllabus 2022)

UPSC IAS प्रारंभिक परीक्षा 2022 मैं उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवार 2022 के मुख्य परीक्षा में बैठने के भी मुख्य पात्र होते हैं। UPSC IAS मुख्य सिलेबस के अंतर्गत दो वैकल्पिक पेपर सहित सात पेपर भी होते हैं। उम्मीदवार द्वारा चुने गए वैकल्पिक विषय के बारे में विवरण का UPSC IAS एडमिट कार्ड 2022 पर छापा करण द्वारा उल्लेख कर दिया जाता है। नीचे  UPSC IAS मेंस सिलेबस 2022 के बारे में संपूर्ण जानकारियां उपलब्ध है

UPSC IAS मेंस पेपर 1 सिलेबस(UPSC IAS mains paper 1 syllabus)

  •  निबंध लेखन

UPSC IAS मेंस पेपर 2 सिलेबस (gs 1) (UPSC IAS mains paper 2 syllabus (GS 1))

  •  भारतीय की संस्कृति में प्राचीन काल से लेकर आधुनिक काल तक के कला के रूप में, साहित्य एवं वास्तुकला के मुख्य पहलू शामिल।
  •  भारतीय समाज पर भूमंडलीकरण का प्रभाव।
  •  गरीबी और विकासात्मक विषय, महिलाओं की भूमिका और महिला संगठन, जनसंख्या एवं संबंध मुद्दे, गरीबी एवं विकासात्मक विषय, शहरीकरण एवं इनसे जुड़ी समस्याएं एवं उनके रक्षोंपाए।
  •   18 वीं शताब्दी के लगभग मध्य से लेकर वर्तमान समय तक की आधुनिक भारतीय इतिहास की महत्वपूर्ण घटनाओं की जानकारियां, व्यक्तित्व विषय।
  •  भारत की विविधताएं एवं भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएं।
  •  दुनिया के विभिन्न हिस्सों भारत सहित उद्योग का विवरण।
  •  ज्वालामुखी, चक्रवात ,भूकंप ,सुनामी जैसी महत्वपूर्ण भौतिक घटनाओं का विश्लेषण, भौगोलिक विशेषताएं एवं उनके स्थान अति महत्वपूर्ण भूगोल की विशेषताओं एवं वनस्पति एवं प्राणी जगत परिवर्तन और इस प्रकार के परिवर्तनों के प्रभाव।
  •  समाज की सशक्तिकरण, संप्रदायवाद, धर्मनिरपेक्षता एवं क्षेत्रवाद इत्यादि।
  •  विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य बातें एवं विशेषताओं का उल्लेख।
  •  स्वतंत्रता के पश्चात देश के अंदर पुनर्गठन एवं एकीकरण का स्वरूप।

UPSC IAS मेंस पेपर 3 सिलेबस (GS 2) (UPSC IAS mains paper 3 syllabus (GS 2))

  •  भारतीय संवैधानिक योजना की अन्य देशों के साथ तुलनात्मक विवरण।
  •  भारतीय संविधानऐतिहासिक आधार, संविधान की विशेषताएं, विकास, महत्वपूर्ण प्रावधान, संशोधन एवं बुनियादी संरचना।
  •  संसद और राज्य विधायिका की संरचना, कार्य संरचना, शक्तियां एवं विशेषाधिकार कार्य और इन से उत्पन्न होने वाले विषय आकार।
  •  संघ एवं राज्यों के कार्य और उत्तरदायित्व, संघीय ढांचे से संबंधित विषय एवं चुनौतियां, स्थानीय स्तर पर शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण और उसकी मुख्य चुनौतियां।
  •  न्यायपालिका एवं कार्यपालिका की संरचना, संगठन और कार्य–  सरकार के मंत्रालय एवं विभाग प्रभावित समूह और औपचारिक अनौपचारिक संघ और शासन प्रणाली में मुख्य भूमिका।
  •   जनप्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएं।
  •  विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति 
  •   महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय संस्थान एवं संस्थाएं और मंचउनकी संरचनाएं और अधि देश।
  •  भारतीय परिदृश्य पर विकसित, भारत के हितों एवं विकासशील देशों की नीतियां एवं राजनीति का प्रभाव।
  •   सिविल सेवा का लोकतंत्र में उल्लेख।
  •  भारत एवं उसके पड़ोसी देशों के बीच संबंध।
  •  द्विपक्षीय वैश्विक समूह और क्षेत्रीय और भारत से संबंधित अथवा/ भारत के हितों को प्रभावित करने वाले प्रमुख कारक।
  •  भूख एवं गरीबी से संबंधित विषय।
  •  पारदर्शिता शासन व्यवस्था और जवाबदेही के महत्वपूर्ण पक्ष, गवर्नेंस, अनुप्रयोग मॉडल, सीमाएं और संभावनाए, सफलताएं, नागरिक चार्टर, संस्थागत एवं पारदर्शिता तथा अन्य उपाय।
  •  विनियामक सांविधिक और विभिन्न अर्थ निकाय।

  UPSC IAS  मेंस पेपर 4 सिलेबस (GS3) (UPSC IAS mains paper 4 syllabus GS 3))

  •  आपदा एवं आपदा से प्रबंधन।
  •  समावेशी विकास तथा इससे उत्पन्न होने वाले विषय।
  •  भारत की अर्थव्यवस्था तथा योजना संसाधनों को जुटाने, प्रगति, विकास एवं बेरोजगार रहित कार्य से संबंधित विषय।
  •  सरकारी बजट।
  •  मुख्य फसलेंदेश की विभिन्न भागों में फसलों का सूची, सिंचाई के विभिन्न प्रकार एवं सिंचाईयों की प्रणालियां, कृषि उत्पाद का भंडारण, संबंधित विषय और बाधाएं परिवहन तथा विपणन, किसानों की सहायता के लिए प्रौद्योगिकी।
  •   विभिन्न सुरक्षा बल एवं संस्थाएं और उनके अधीदेश।
  •  आंतरिक सुरक्षा के लिए चुनौती उत्पन्न करने वाले विभिन्न शासन विरोधी तत्वों की प्रमुख भूमिका।
  •  सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियां एवं उनका प्रबंधनआतंकवाद के बीच संबंध एवं संगठित अपराध।
  •  फैलती उग्रवाद के बीच संबंध एवं विकास।
  •  संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा की चुनौतियां, आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया एवं सामाजिक नेटवर्किंग साइटों की प्रमुख भूमिका, साइबर सुरक्षा की बुनियादी बातें, धन संशोधन और इसे रोकना।
  •   विकास और फैलते उग्रवाद के बीच संबंध।

UPSC IAS में पेपर 5 सिलेबस (gs4)(UPSC IAS mains paper 5 syllabus (GS 4))

  •  लोक प्रशासनओं में सिविल एवं लोक सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र: स्थिति तथा समस्याएं; निजी एवं सरकारी संस्थानों में नैतिक चिंताएं तथा दुविधाएं; नियम, नैतिक मार्गदर्शन के स्रोतों के आधार पर विधि शासन व्यवस्था में नीति तथा नैतिक मूल्य का शुद्धि करना।
  •  सरकारी एक ऐसे कार्यबल का प्रयास करती है जो लिंग के संतुलन को दर्शाता है और महिला उम्मीदवारों को आवेदन करने के लिए मुख्य रूप से प्रोत्साहित भी करता है।
  •  सिविल सेवा के लिए अभिरुचि तथा बुनियादी मूल्य भाव, सत्य निष्ठा, गैर तरफदारी तथा भेदभाव रहित निष्पक्षता, सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण भाव, कमजोर वर्गों के प्रति सहानुभूति एवं सहनशीलता तथा संवेदना।
  •   शासन व्यवस्था में ईमानदारी: लोक सेवा की अवधारणा शासन व्यवस्था और इमानदारी का दार्शनिक आधार, सरकार में सूचना का आदान प्रदान और पारदर्शिता, आवश्यकता के दार्शनिक आधार और शासन नीतिपरक सूचना का अधिकार, आचार संहिता, कार्य संस्कृति, आचरण संहिता, सेवा प्रदान करने की गुणवत्ता, भ्रष्टाचार की चुनौतियां, लोक निधि का उपयोग।

UPSC IAS पेपर 6 वैकल्पिक पेपर 7 के प्रश्न वैकल्पिक आते हैं।

UPSC IAS वैकल्पिक विषय 2022(UPSC IAS optional subject 2022) UPSC IAS मुख्य परीक्षा के लिए उम्मीदवारों को अपना एक वैकल्पिक विषय चुनना पड़ता है नीचे उल्लेखित UPSC IAS वैकल्पिक विषयों की सूची उपलब्ध है:- 

कृषि (AGRICULTURE)

  •  वनस्पति विज्ञान(botany)
  •  पशुपालन एव पशु चिकित्सा विज्ञान(animal husbandry and veterinary science)
  •  मनुष्य जाति का विज्ञान(anthropology)
  •  रसायन विज्ञान(chemistry)
  •  वाणिज्य और लेखाशास्त्र(commerce and accountancy)
  •  सिविल अभियांत्रिकी(civil engineering)
  •  अर्थशास्त्र(economics)
  •  विद्युत अभियंत्रण(electrical engineering)
  •  भूगोल(geography)
  •  भूगर्भ शास्त्र(geology)
  •  इतिहास (history)
  •  कानून(law)

प्रबंधन (MANAGEMENT)

  •  गणित (mathematics)
  •  यांत्रिक अभियांत्रिकी(mechanical engineering)
  • चिकित्सा विज्ञान(medical science)
  • दर्शनशास्त्र(philosophy)
  •  राजनीति विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय संबंध
  •  भौतिकी(physics)
  •  मनोविज्ञान(psychology)
  •  लोक प्रशासन(public administration)
  •  नागरिक शास्त्र(sociology)
  •  नीति(ethics)
  •  प्राणी विज्ञान(zoology)
  •  सांख्यिकी(statics)
आईएएस की इंटरव्यू (UPSC IAS interview)
आईएएस की इंटरव्यू (UPSC IAS interview)

आईएएस की इंटरव्यू (UPSC IAS interview)

यूपीएससी आईएएस परीक्षा का इंटरव्यू यानी आखरी चरण सबसे कठिन माना जाता है इस में उम्मीदवारों को कई स्तरों से परखा जाता है। ऐसे में पूरे कॉन्फिडेंस के साथ अपनी सूझबूझ का इस्तेमाल करते हुए इंटरव्यू के हर सवाल का जवाब देना होता है। इनसे आपको सवालों का आईडिया भी लग  जाता है।

यूपीएससी इंटरव्यू को देश का सबसे कठिन इंटरव्यू के तौर पर माना जाता है इसे पास कर पाना मुमकिन ही नहीं नामुमकिन माना जाता , इसमें देश दुनिया के किसी भी कोने से कैसा भी सवाल आपसे पूछा जा सकता है । यूपीएससी इंटरव्यू के प्रश्न काफी ट्रिकी होते हैं।

इंटरव्यू में पैनल में बैठे लोग उम्मीदवारों को कंफ्यूज करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते हैं। अगर आप यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपको इंटरव्यू की तैयारी में काफी ज्यादा मेहनत करना जरूरी है

यह भी पढ़े

Topic Wise  GK important Questions Quiz

Daily Current affairs Questions in Hindi online test

Weakly Current Affairs Questions Online Test in Hindi

अगर आप गवर्नमेंट जॉब की तैयारी कर रहे हो तो आप हमारे फेसबुक ग्रुप और टेलीग्राम ग्रुप में जुड़ जाइए क्योंकि उसमें मैं Daily आने वाली सरकारी नौकरी से संबंधित अपडेट और लास्ट ईयर के क्वेश्चन पेपर और गवर्नमेंट जॉब की तैयारी से संबंधित स्टडी मैटेरियल प्रोवाइड करता हूं वह भी बिल्कुल फ्री में आप हमारे फेसबुक ग्रुप और टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर सकते हो |

Fb Group –  Click Here

Telegram Group – Click Here

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ)

UPSC  IAS परीक्षा का स्ट्रक्चर कैसा होता है ?

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा निम्नलिखित दो चरणों में आयोजित किया जाता है १. प्रारंभिक परीक्षा (वस्तुनिष्ठ), . मेंस परीक्षा (लिखित एवं साक्षात्कार): 3. यूपीएससी इंटरव्यू

 UPSC IAS परीक्षा प्रश्न पत्र अंग्रेजी या हिंदी में सेट बनाया जाता है ?

UPSC IAS लिखित परीक्षा प्रश्न पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों सेटों में निर्धारित किया जाएगा अभी अभ्यर्थी अपने सुविधानुसार पेपर का चयन कर सकते हैं।

 क्या UPSC IAS परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है ?

जी हां, प्रारंभिक के परीक्षा दोनों पेपरों में गलत उत्तरों के लिए नकारात्मक अंकन की जाती है जो उस प्रश्न के लिए दिए गए कुल अंकों के 1/3 के बराबर है।

UPSC  IAS की परीक्षा ऑफलाइन मोड या ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाएगी ?

UPSC IAS प्रीलिम्स ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाएगी, जबकि मेंस केवल ऑफलाइन मोड में आयोजित किया जाएगा।

 IAS में कितने वैकल्पिक विषय होते हैं ?

UPSC IAS सिविल सर्विस एग्जाम में कुल मिलाकर 47 वैकल्पिक विषय होते हैं।

UPSC IAS की तैयारी कैसे शुरू करें ?

सबसे प्रथम इसके पाठ्यक्रम को अच्छे से समझे। उसके बाद इसकी तैयारी करने के लिए उपयोगी पुस्तकों को खरीदें, वह ।वो  नोट्स बनाएं, रिवीजन , पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र को हल करें और मॉक टेस्ट देकर अपनी तैयारी का जांच करें। पूरी तैयारी के दौरान अपना मोटिवेशन को भी बनाए रखें।

क्या UPSC IAS बनना आसान है ?

बिल्कुल भी नहीं क्योंकि यह देश के सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है या फिर यह कहे कि यह देश की सबसे कठिन परीक्षा होती है। तो ज्यादा बेहतर होगा कि आप उपरोक्त सभी विषयों पर ध्यान दें।

उपरोक्त वर्णित अध्ययन के लिए  मुझे सभी विषय कहां से उपलब्ध होंगे ?

आवेदक एनसीईआरटी की पाठ्य पुस्तकों को कक्षा छठी से बारहवीं तक के लिए तैयार करते हैं। और अधिक जानकारी के लिए आप पुस्तकों और सामग्री के लिए टेस्ट बुक देखें।

UPSC IAS 2022 के लिए पुस्तकों का चयन कैसे कर सकता हैं ?

UPSC IAS लिए पुस्तकों का चयन करते वक्त सबसे महत्वपूर्ण बातों में से एक यह है कि UPSC IAS 2022 के लिए नवीनतम सिलेबस और परीक्षा पैटर्न पर आधारित होनी चाहिए।

UPSC  IAS सिलेबस 2022 कौन जारी करेगा ?

UPSC IAS 2022 सिलेबस यूपीएससी द्वारा जारी किया जाएगा।  निष्कर्ष :- आज हमने आपको इस आर्टिकल में यूपीएससी आईईएस(UPSC IAS) से संबंधित संपूर्ण जानकारियां प्राप्त कराई है । हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के बाद आपको यूपीएससी आईएएस (UPSC IAS) से संबंधित संपूर्ण जानकारियां और साथ ही साथ इस के सिलेबस के बारे में भी जानकारी प्राप्त हो गई होगी आशा करते हैं कि हमारा यह आर्टिकल आपके लिए बेहद सुविधाजनक एवं सहायकपूर्ण रहा होगा।