दोस्तों परीक्षाओं में अनुसूचियां से संबंधित बहुत सारे प्रश्न पूछे जाते हैं आज मैं आप सभी को इस ब्लॉग पोस्ट में ज्यादातर बातें अनुसूचियों से संबंधित बताऊंगा जैसे भारतीय संविधान में कितने अनुसूचियां हैं 12 अनुसूचियों में क्या-क्या वर्णित है अनुसूची क्या होती है अनुसूची से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारि अनुसूची का संविधान से क्या संबंध है अनुसूची और भाग में क्या अंतर है आदि दोस्तों पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ना लास्ट में मैंने एक ऑनलाइन टेस्ट दिया है भारतीय अनुसूची से संबंधित जानकारी पूरी पढ़ने के बाद आप उस ऑनलाइन टेस्ट को जरूर देना जिसके बाद भारतीय अनुसूचियां से संबंधित ज्यादा से ज्यादा जानकारी आपको मिल जाएगी जो कि एग्जाम्स में बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है

भारतीय संविधान में कितने अनुसूची है
भारतीय संविधान में कितने अनुसूची है

अनुसूची क्या होती है अनुसूची से क्या तात्पर्य हैं

संविधान के अंदर कुछ सूचियां भी रखी गई है जो हमारे देश में काम करने वाली सरकार है उसकी प्रशासनिक गतिविधि जो किस प्रकार से होगी और कौन-कौन सी नीतियां और सरकार के द्वारा बनाई जाएगी उन सभी चीजों को यह सारणीबध category-wise करती हैं ।

अनुसूची में कुछ अनुच्छेद होते हैं दोस्तों जैसे कि कोई अनुच्छेद है जिसको हम संविधान में लिखकर समझा नहीं सकते हैं डिफाइन नहीं कर सकते हैं तो उसके लिए संविधान में अलग से अनुसूचियां बनाई और उन सारे अनुच्छेदों को अनुसूचियों के अंदर डाल दिया और उसको वहां पर हमने विस्तृत रूप से डिफाइन कर दिया है इसलिए हमारे संविधान में अनुसूची बनाई गई थी।

दोस्तों मूल संविधान में अनुसूचियों की संख्या 8 थी जो कि वर्तमान में बढ़कर 12 हो गई है।

अनुसूचियाँ से सम्बंधित प्रश्न Online Test – Click Here

भारतीय संविधान में कितनी अनुसूची हैं । अनुसूची कितनी है?

दोस्तों जब ‌संविधान बनकर तैयार हुआ था मतलब मूल संविधान में अनुसूचियों की संख्या 8 थी जो कि अब वर्तमान में 12 हो चुकी हैं।

प्रथम अनुसूची अनुसूची 1 में क्या है? 

दोस्तों इस अनुसूची में भारत भारत के राज्य भारत के केंद्र शासित प्रदेश का वर्णन किया गया है भारत में कितने राज्य हैं कितने केंद्र शासित प्रदेश हैं इन सभी का जो लिस्ट है वह प्रथम अनुसूची में है

द्वितीय अनुसूची अनुसूची 2 में क्या है?

संवैधानिक अधिकारियों के वेतन एवं भत्तो का वर्णन द्वितीय अनुसूची में मिलता है ।

तृतीय अनुसूची अनुसूची 3 में क्या है?

संवैधानिक अधिकारियों के शपथ ग्रहण का वर्णन तृतीय अनुसूची में मिलता है।

चतुर्थ अनुसूची अनुसूची 4 में क्या है?

संसद में दो सदन होते हैं राज्यसभा और लोकसभा तो दोस्तों इसमें राज्यसभा के बारे में बताया गया है की राज्यसभा में जो सीटें होंगी वह किस राज्य में कितनी होगी और किस केंद्र शासित प्रदेश में कितनी होगी ।

पांचवी अनुसूची अनुसूची 5 में क्या है?

इस अनुसूची में कहा गया है कि भारत के विभिन्न अनुसूचित जाति जनजाति के प्रशासन के बारे में वर्णित किया गया है की इनके लिए एक विशेष प्रशासन की व्यवस्था की जाएगी।


छठी अनुसूची अनुसूची 6 में क्या है?

जनजाति के प्रशासन का वर्णन छठी अनुसूची में मिलता है ( असम, मेघालय, त्रिपुरा, मिजोरम)

सातवीं अनुसूची अनुसूची 7 में क्या है?

सूचियों का वर्णन इस अनुसूची में मिलता है भारतीय संविधान में तीन प्रकार की सूचियों का वर्णन है संघ सूची, राज्य सूची, समवर्ती सूची ।

आठवीं अनुसूची अनुसूची 8 में क्या है?

आठवीं अनुसूची में भाषा का वर्णन है दोस्तों स्टार्टिंग में 14 भारतीय भाषाओं को आठवीं अनुसूची में रखा गया था लेकिन अब इन भाषाओं को धीरे धीरे बढ़ा दिया गया है जो कि अब 22 भाषाओं को इस में जगह दी गई है ।


दोस्तों इसके बाद जो अनुसूचियां हैं उनको संविधान में बाद में जोड़ा गया था ।

नौवीं अनुसूची अनुसूची 9 में क्या है?

दोस्तों इसे प्रथम संविधान संशोधन द्वारा जोड़ा गया जोकि 1951 में हुआ था जो भी भूमि सुधार से संबंधित है वर्तमान में इसमें 284 विषयों को रखा गया है ‌।

दसवीं अनुसूची अनुसूची 10 में क्या है?

दोस्तों दसवीं अनुसूची को 52 वें संविधान संशोधन द्वारा 1985 को जोड़ा गया का जो की दल बदल से संबंधित था ।

ग्यारहवीं अनुसूची अनुसूची 11 में क्या है?

इसको 73वें संविधान संशोधन द्वारा जोड़ा गया था इस संशोधन को 1992 में संसद में पेश किया गया और 1993 में यह पास हो गया था इसमें पंचायती व्यवस्था को अपनाया गया इसमें 29 कार्यक्षेत्र सोपे गए थे ।


बारहवीं अनुसूची अनुसूची 12 में क्या है?

इसको 74 वें संविधान संशोधन द्वारा 1992 93 में जोड़ा गया जोकि नगर प्रशासन से संबंधित था इसमें 18 कार्यक्षेत्र सोपे गए थे ।

अनुसूची और भाग में क्या अंतर है?

अनुसूची और भाग में क्या अंतर है?

अनुसूची

जो हमारे देश में काम करने वाली सरकार है उसकी प्रशासनिक गतिविधि जो किस प्रकार से होगी और कौन-कौन सी नीतियां और सरकार के द्वारा बनाई जाएगी उन सभी चीजों को यह सारणीबध category-wise करती हैं ।

भाग

जो हमारा मूल संविधान है उसको कई हिस्सों में बांटा गया है जैसे अनुच्छेद 1 से 4 तक संघ और उसका राज्य क्षेत्र है उसके बाद अनुच्छेद 5 से 11 तक नागरिकता है अनुच्छेद 12 से 35 तक मौलिक अधिकार ।

इसमें प्रत्येक भाग में कुछ विशिष्ट अनुच्छेदों को शामिल किया गया है |

हमारे मूल संविधान में 22 भाग थे परंतु वर्तमान में इनकी संख्या बढ़कर 25 हो चुकी है |

कितने लेख और कार्यक्रम भारतीय संविधान में देखते हैं? संविधान में कितने अध्याय हैं?

जब भारतीय संविधान का निर्माण हुआ था उस समय मूल संविधान में 395 अनुच्छेद थे 22 भागों में विभाजित किया गया था इसमें केवल 8 अनुसूचियां शामिल थी परंतु अब वर्तमान में 470 अनुच्छेद तथा 12 अनुसूचियां है और इन को 25 भागों में विभाजित किया गया है |

संविधान में अनुसूची क्या है परिभाषा?

अनुसूची की परिभाषा है कि जो हमारे देश में काम करने वाली सरकार है उसकी प्रशासनिक गतिविधि जो किस प्रकार से होगी और कौन-कौन सी नीतियां और सरकार के द्वारा बनाई जाएगी उन सभी चीजों को यह सारणीबध category-wise करती हैं । दोस्तों मूल संविधान में अनुसूचियों की संख्या 8 थी जो कि वर्तमान में बढ़कर 12 हो गई है।

अधिक जानकारी के लिए अनुसूचियाँ से सम्बंधित Online Test  KRE – Click Here

हम से जुड़े रहने के लिए हमारे सोशल ग्रुप को फॉलो करें –

अंतिम शब्द

आशा करता हु की आपको मेरी ये पोस्ट पसंद आई होंगी और आपके सरे सवाल अनुसूची सम्बंदित सरे सवाल ख़तम हो गए होंगे |
अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा तो कृपया करके इस पोस्ट को अपने दोस्तों और स्टडी व्हाट्सप्प ग्राउट और फेसबुक ग्रुप अदि में शेयर जरूर करे |
धन्यबाद